सऊदी अरब ने रचा इतिहास, बनाई सौर ऊर्जा से चलने वाली कार, इंजीनियर बोले- इसका उपयोग अंतरिक्ष …

सऊदी अरब हाल ही में कई तरह से सुर्खिया बटोर ने के साथ साथ अपने देश मे कई तरह के एजे सी, कम्पनियों समेत नई टेक्नोलॉजी को भी आगे बढ़ाने की कवायद करने में आगे आ रहा है। सऊदी अरबन हाल ही में अल फैजल यूनिवर्सिटी के इंजीनियरों कॉलेज में बीते दिन ही एक सौर बिजली से चलने वाली कार को बनाया है ।

जिसकी खोज यूनिवर्सिटी के एक टीम के समूह ने की है। इस टीम का नेतृत्व बोइंग के साथ साझेदारी में हबीब फारुख के साथ किया गया है। इस कार्यक्रम में अल फेजल यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष मोहम्मद बिन अली अल हयाजा और बोइंग प्रतिनिधिमन ने भाग लिया है । अल हयाजा ने बताया है कि इस यूनिवर्सिटी में इलेक्ट्रिकल, मेकेनिकल, औद्योगिक और

saudi arab first solar car

तकनीकी इंजीनियरों के कई छात्रों ने कई सालों तक इस परियोजना पर काम भी किया है। अल हयाजा ने कहा है कि कार को अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिता में प्रवेश कराया जाएगा और इसका उपयोग वैज्ञानिक अनुसंधान में किया जाएगा। जो सऊदी अरब के विजन 2030 के श्रेणी में भी शामिल किया गया है।

इंजीनियरिंग कॉलेज में सहायक परियोजना पर्यवेक्षक डॉ अहमद ने कहा है कि कार को एक बार चार्ज करनेके बाद 80 किलोमीटर प्रति घण्टे की गति से 2,500 किलोमीटर तक कियात्रा कर सकती है।

saudi arab first solar car

उन्होंने आगे बताया है कि इस सामग्री कॉलेज के छात्रों ने की पूरी की है और उन्होंने बनाया है । वैज्ञानिक अनुसंधान केंद्र ने भी इस परियोजना का समर्थन किया है। सऊदी अरब में इराक के प्रधानमंत्री उमराह के लिए गए हुए हाल ही में दोनों देश के बीच द्विपक्षीय समझौते को लेकर बातचीत हो रहा है ।

Leave a Comment