ओलम्पिक में ब्रिटेन ने दी मुस्लिम खिलाडी सबीही को बड़ी जिम्मेदारी, रचा इतिहास ..ब्रिटेन में मुस्लिम खिलाड़ियों का जलवा बरकरार

जापान की राजधानी टोक्यो में 23 जुलाई से ही ओलंपिक खेलों का आगाज भी हो गया है। को’रो’ना वा’यर’स महा’मारी की वजह से ओलंपिक खेलों को एक साल के लिए स्थगित कर दिया गया था। लेकिन अब एक साल के बाद अब खेल खेले भी जा रहे है।

बीते दिनों ही ओलंपिक खेलों के उद्धघाटन समारोह में ब्रिटिश ध्वज ले जाने वाले और स्वर्ण पदक विजेता रोवर मोहम्मद करीम साहिबी झंडा लहराने वाले पहले मु’स्लिम बन गए है।33 वर्षीय रोवर ने टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक विजेता नाविक हन्ना मिल्स के साथ इस भूमिका को भी साझा किया है।

sbihi becomes first muslim to carry british flag

यह पहलीं बार है जब अंतरास्ट्रीय ओलंपिक समिति ने पिछले साल इस बात की घोषणा की थी कि प्रत्येक राष्ट्रीय ओलंपिक समिति ध्वज ले जाने के लिए एक महिला और एक एथलीट को नामित भी कर सकती है। इसके बाद ही दो प्रतियोगिताओ को इस ध्वज को ले जाने की अनुमयी भी दी गई ।

सबिही ने मिडिया से बात करते हुए बताया है कि मुस्लि’म के लिए यह होना एक बहुत बड़े गर्व और सम्मन की बात है। उन्हें इस बात की भी उम्मीद है कि यह युवा इस्लामिक राष्ट्र को यूके में घर वापस आने के लिए प्रेरित भी कर सकता है। बता दे कि बीते दिनों 23 जुलाई से शुरू हुए ओलंपिक खेलों

sbihi becomes first muslim to carry british flag

का समापन 8 अगस्त को होगा। इनमें विश्व खेलो में 206 देशों के कुल 11,324 एथलीट प्रतिस्पर्धा करेगे।इसमे बीते दिनों ही अ’ल्जीरिया के एक खिलाड़ी को भी स’स्पें’ड कर दिया गया है। इस पेलयर ने इजरा’यल के एक ख़िलाडी के सामने से खेलने के लिए भी म’ना किया था।

Leave a Comment