मुस्लिम से हिन्दू बने वसीम रिज़वी की बढ़ी मुश्किलें, शिया वक़्फ़ बोर्ड ने लिया बड़ा फैसला और ….

मु’स्लि’म ध’र्म को त्या’ग’कर हि’न्दू बने वसी’म रिज’वी की ‘मुश्किले अब ब’ढ़ रही है। अब वह कई प’दों से हटाए जाएंगे। वह शि’या सेंट्र’ल व’क्फ बोर्ड के सद’स्य थे। नि’यम के मुताबिक एक मु’स्लि’म बो’र्ड का सदस्त रह सकता है। ‘शि’या सें’ट्रल वक्फ बो’र्ड के सदस्य सैयद फैजी ने उनकी

बोर्ड की सदस्य्ता को रद्द करने की मांग की है। उन्होंने बोर्ड के चेयरमैन अली जैदी को पत्र लिखकर कहा कि वसीम रिज/वी को सदस्य पद से ह’टा/ने के लिइ प्र’स्ताव लाने के लिए कहा ह।अल जैदी ने पत्र में लिखा कि शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड शि’या स’माज के लिए एक महत्व’पूर्ण सं’स्था है।

ऐसे में हम सबकी जिम्मेदारी है कि इसको सुचा’रू रूप से च’लाया जाए। उन्होंने कहा कि बोर्ड में स’दस्य के रूप में व’सीम रिज’वी चुने गए तब लेकिन उन्होंने मु’स्लि’म ध’र्म को त्या’ग दिया है इसलिए उनका पद पर बने रहने का कोई अधि’कार न’ही है । बोर्ड की आगामी बैठक में

सर्वस’म्म’ति से प्र’स्ताव लाकर उन्हें प’द से ह’टा’या जाना चाहिए।वसीम रिजवी से जितेंद्र नारा’यण त्या’ग बनने के बाद वह पहलीं बार लखनऊ पहुँचे। अपने बयानों और का’र्यशैली की वजह से जि’तेंद्र ह’मेशा वि’वा’दों में रहे। इनके खिलाफ कई मु’कदमे ल’खनऊ में द’र्ज है।

जितेंद्र को वि’देश से भी जा’न से मा’र’ने की ध’म’की मिलो है लेकिन उन्होंने अपनी का’र्यशै’ली नही बदली।जितेंद्र के भाई उनसे पहले ही उनसे रि’श्ता तोड़ चुकी है। जितेंद्र ने दो शादि’यां की है। जितेंद्र की बेटि’यों की शादी हो चुकी है।उनकी दो बे’टी है।

Leave a Comment