इस वज़ह से सिखों के लिए मु’स्लिमों ने खोल दी पवित्र म’स्जिद, एकता की मिसाल पेश की

हमारे देश मे इतनी न”फरत फै’लाने के बावजूद भी आज भी एक’ता और भाई’चारा शामिल हैं। एक ऐसी ही मि’साल पेश की है मुस्लि’म समुदाय के लोगों ने। बता दे कि पंजाब में मु”स्लिमो द्वारा भा’ईचारे की मिसाल पेश की गई है। ‘को लंगर बनाने और बाटने के लिए मु,स्लिमो ने सिखों के लिए म,स्जिद के दरवाजे खोल दिए है। साबित कर दिया है कि आज भी देश के अंदर इंसा’नियत बाकी हैं।

मु’स्लि’म समुदाय ने लं,गर के लिए मुगल,कालीन लाल म,स्जिद परिसर सिख समुदाय को सौप दिया। मेला गुरु गोविंद सिंह की शहादत की याद में आयोजित किया जाय है। वही दूसरी और ये म’स्जिद भी मुग’ल काल की है। जिसे शेख अहमद फारुखी सिरहिन्दी ने बनवाया था।दो साल पहले इस म’स्जि,द का पुनर्निर्माण किया गया था।

वहां पर रहने वाले चरणजीत सिंह चिन्नी ने बताया है कि मु’स्लि’म समुदाय ने लंगर तैयार करने के लिए अपनी जमीन का उपयोग करने की अनुमति दी है। हम पिछले तीन दिनों से भोजन तैयार कर रहे है। यहां आने वाले लोगों को सेवाएं दे रहे हैं।

म’स्जिद के इं’चार्ज से इजाजत मिलने के बाद रनवां गांव के लोगो ने इसके परिसर के अंदर लंगर लगाने का इंतजाम किया। इस म’स्जिद के बेसमेंट का भी हमें इस्तेमाल करने दिया जा रहा हैं। दो गावो के गुरु’द्वारों ने मिलकर लंगर का आयोजन किया हैं। म”स्जि’द के तह’खाने का भी इस्तेमाल किया जा रहा हैं।

Leave a Comment