वो दो देश, जहां एक भी मस्जिद नहीं है ..मुस्लिम इस तरह पढ़ते है नमाज और अल्लाह की इबादत करते है

दुनिया मे दो देश ऐसे है जहां पर मस्जि’द नही है उसको बनाने की माँग बरसो से होती रही है लेकिन स’रकार इसकी अनुमति नही देती है। यह दोनोदेशो नए देश है। एक स्लोवाकिया है,जो चेकोस्लोवा’किया से टूटकर बना है तो दूसरा देश इस्टोनि’या है। हालां’कि यह बात भी सच है कि वहाँ रहने वाले मुस्लि’मो की

संख्या भी कम है। ऐसे में वो किसी फ्लैट या क’ल्चर सेंटर में नमाज अदा करने का काम भी करते है। इस्टो’निया में मु’स्लिम आ’बादी ब’हुत कम है। साल 2011जनगणना के अ’नुसार वहां तव 1508 मुस्लि’म रहते थे। यानी वहां की आबा’दी का केवल 0.14 फीसदी हिस्स है।हालांकि निश्चि’त तौर पर अबतक इसमें

slovakia and estonia

बढ़ोतरी भी हुई है लेकिन यह संख्या बहुत कम है।यहापर कोई भी म’स्जिद नही है।अलबत्ता एकइस्ला’मिक कल्च’र सेंटर जरूर है। जहां पर आमतौर पर मु’स्लिम न’माज के लिए जाते है। इस्टोनिया में कुछ जगहों पर लोग नमाज के लिए किसी कामन फ्लेट में भी इकट्ठा होते है। यहां शि’या ओर सु’न्नी साथ मे ही नमा’ज पढ़ते

है। यहां के मुस्किमो को आम’तौर पर मॉ’डरेट किया जाता ह।इस्टो’निया का विलय 1940 के आसपास सोविय’त संघ में हुआ है। जब सोवियत संघ टूट तो उसने 1991 में खुद को अलग देश घो’षित कर दिया। अब यह यू’रोपीय यूनि’यन का स’दस्य ह। इसको खुश’हाल देशो में भी गिना जाता है।

slovakia and estonia

स्लोवाकिया यू’रोपीय यूनि’यन का सदस्य जरूर है लेकिन वोइसा देश है। जो सबसे आखिर मेंइसका सदस्य भी बना है। यहां पर कोई म’स्जि’द भी नही है। इसको लेकर वि’वाद भी होता रहा है।

Leave a Comment