माँ के श’व को बच्चे ने जगाया, शाहरुख़ खान का पसीज गए दिल, मदद को आगे आए किंग खान

बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख खान आजकल सुर्खिया बटौर रहे है। शाहरुख खान ग’रीबो के म’सीहा कहे जाते है। शाहरुख खान ने बीते दिनों को’रो’ना सं’क’ट से जू’झ रहे कई लोगो को मदद भी पहुचाई है। शाहरुख खान ने मीर फाउंडेशन के तहत भी कई तरह की प’रे’शा’नी को दूर किया है। बीते दिनों ही उन्होंने एक भि’खा’री के सर पर हाथ रखा और अपने गार्ड से भि’खा’री के लिए खाना खिलाने का इंतजाम भी किया।

उनका ये बर्ताव देखकर हर कोई है’रा’न रह गया। एक ऐसा ही वीडियो बीते दिनों ही मुज’फ्फर’नगर स्टेशन पर एक मृ’त प्रवा’सी महिला श्रमि’क का वी’डि’यो वा’य’र’ल हुआ था। वी’डि’यो एक मासूम अपनी माँ के श’व के क’रीब खे’ल र’हा था। इस वीडि’यो के सामने आने के बाद शाहरुख खान और उनके मी’र फाउं’डेशन के तहत बच्चे की मदद के लिए आगे आए है।

मीर फाउंडेशन ने अपने ट्वीट में लिखा है कि फा’उंडेशन उन सभी लोगो का शु’क्र’गु’जा’र करते है जिन्होंने हमे इस बच्चे तक पहुचने में मदद की। वो ब’च्चा अपनी माँ को उ’ठा’ने का प्रयास कर रहा था। इस वी’डि’यो को देखने के बाद सभी का दि’ल द’ह’ल गया। अब हम इस ब’च्चे को सपोर्ट कर रहे है। फिलहाल अभी वो ब’च्चा अपने दा’दा के पास में है।

इसके शाहरुख ने भी मीर फा’उंडेशन के इस ट्वीट को रिटीवीट करते हुए लिखा है कि आप सभी लोगो का शुक्रिया जिन्होंने हमे इस बच्चे तक पहुचाने में मदद की। हम सभी यह दुआ करते है कि यह बच्चा अपनी माँ को खोने के बाद जिंद’गी जी’ने की ता’क’त को ढूंढ लेगा। शाहरुख ने कहा कि मैं समझ सकता हु कि अपने पेरें’ट्स को खोने की ‘भा’व’ना क्या होती है।

अरविना खातून नाम की 35 साल की यह महिला मु’जफ्फ’रनगर प्लेट’फॉ’र्म पर पड़ी हुई थी। जिसमे उसके सा’मान से भरे हुए दो बेग भी रखें हुए थे। महिला और उसके दो बच्चे 25 मई को अहमदाबाद से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आए थे। लो’क डा’उ’न की वजह से भी कई श्र’मि’को ने अपनी मं’जि’ले पै’द’ल ही तय की है। उनमें से कई लोगो की ए’क्सी’डें’ट में भी मौ’त हो गई थी। को’रो’ना के नए मरीजो का आं’क’ड़ा भी बढ़ता जा रहा है। स’र’का’र ने बीते दिनों से ही श्र’मि’क ट्रे’नों को चलाया है।

Leave a Comment