मुस्लिम पिता से पैदा होने के बाद जिस बच्चे को छोड़ दिया था वो बना अरबपति और सबसे बड़ा वैज्ञानिक, जानिए

दुनिया के सबसे बड़ी कम्पनी के और बड़ी मोबाइल एप्पल कम्पनी के रचयिता स्टीव जॉब्स की जिंदगी बहुत से लोगो के लिए प्रेरणा स्त्रोत भी रही है। इन्होंने 56 साल के छोटे से जीवन में बहुत से बड़े महान कार्य किए और दुनिया को बता दिया कि अगर कोई इंसान

किसी चीज को पूरे मन और दिल से करना चाहे तो उसे कोई भी नही रोक सकता है। न ही उसको कोई हरा भी सकता है। कॉलेज की पढाई भी बीच मे ही छूट गई। इसके बावजूद भी उन्होंने दुनिया के सबसे बेहतरीन ऑपरेटिंग सिस्टम मैक का निर्माण किया।

जो अच्छे इंजीनियर के जिंदगी बस सपना ही बनकर रह जाता है।स्टीव जॉब्स का जन्म 24 फरवरी 1955 को केलिफोर्निया के सेंट फ्रांसिस्को में हुआ। इनके असली माता और पिता जोआननी सिम्पसन और जिंदली थे। जंदाली एक मुस्लिम थे जबकि सिम्पसन एक कैथोलिक ईसाई थे।

दोनों ही एक दूसरे के करीब भी आ गए थे। स्टीव का जन्म हुआ। इस दोनों का रिश्ता जोआननी के पिता को मंजूर नही था। स्टीव को गोद देने का फैसला भी दिया गया। पहले जिस जोड़े को इस को देने का फैसले दिया गया वह बहुत ही ज्यादा अमीर थे।

लेकिन अचानक से उनका मन भी बदल गया इसके बाद उन्होजे लड़की गोद लेने का फैसला किया। इसके बाद स्टीव को पोल और क्लारा को गोद दिया गया।इसके बाद उन्होंने कम्प्यूटर का निर्माण भी किया।

Leave a Comment