माँ ने लोगों के घरों में काम कर बेटे को पढ़ाया, आज बन गया फोर्ड कंपनी में इंजीनियर

किस भी चीज को पाने के लिए सपने हर कोई देखता है और उसे पूरा करने की भी कोशिश करता है और कुछ लोग उसे आसानी से पार कर लेते है । कहते है कि जागकर सपने देखने वालों के ही सपने पूरे होते है। उदयपुर के रहने वाले एक छात्र ने भी जो सोचा वो उन्होंने कर भी दिखाया है। उसने वो कर दिया है जिसके बारे में जानकर लोग प्रेरित भी हो रहे है।

बता दे कि राजस्थान के उदयपुर जिले के रहने वाले भावेश लोहार ने बताया है कि उनकी माँ लोगो के घरों में काम करने के लिए जाती है। उन्होंने अपनी कहानी को लिकवंद पर भी शेयर किया है। इसमें उन्हीने बताया है कि कैसे उन्होंने सारी रुकावटों को पार करते हुए दुनिया की जानी

success story son domestic worker mother

मानी फोर्ड मोटर कम्पनी में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर जॉब भी करने लगे है।इंडिया टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक कहा गया है कि इस पोस्ट में लोहार ने अपने स्ट्रगल के दिनों को याद करते हुए लिखा है कि मुझे आज भी वो दिन याद है जब हाइवे पर हम नं’गे पैर लू के बीच

सरका’री स्कूल भी जाते थे। मैं और मेरे दोस्त फ्यूचर की कारो के बारे में डिसकस करते थे। वो नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी भोपाल में पढ़ते थे लेकिन को’रो’ना की वजह से वो वहां से आ गए। उन्होंने बताता है कि उन्होंने कई पढ़ाई भी की है

success story son domestic worker mother

और इंटरव्यू देकर वो फोर्ड कम्पनी में भी सलेक्ट हुए है उन्होंने बताया है कि वो अपनी बड़ी बहन और माँ को अपनी इस सफलता का श्रेय देते है। उनकी बड़ी बहन ने भी भावेश को गाइड लाइन दी है।

Leave a Comment