हैदराबाद में पहली बार मुस्लिम महिलाओं के लिए मस्जिद में खुला जिम, स्वास्थ्य रहना है मकसद

हमारे दैनिक जरूरतों के साथ साथ ही हम कई तरह के काम जरूरी होते है। जिस तरह से हम खा’ना खा’ना, नहाना, घूमना आदि काम जरूरी है ठीक उसी तरह व्या’याम करना, जिम रोजाना जाना भी जरूरी है।ते’लंगाना में रहने वाले मु’स्लिम महि’लाओं के लिए अब म’स्जि’द मै जि’म खो’लने का ऐलान किया गया है यह जिम दिनभर में दो बार खु’ला रहेगा।

हैदराबाद में स्थित म’स्जि’द ए मुस्त’फा मै महिलाओं के लिए जिम खोला गया है। यहां प्रोफ़े’शन ल ट्रेनर महि’लाओं को’जिम कराती है। तेलंगा’ना में पहली बार महिला’ओं के लिए जिम की शुरुआ’त की गई है। जिम स्था’पित करने का मु’ख्य उ’द्देश्य स्लम मै रहने वाली महिला’ओं को स्व’स्थ बनाना है। यह म’स्जि’द रा’जेंद्र नगर के वडी ए महमूद में स्थापित है।

telangana hyderabad mosque open gym

जिम खोलने की बारे में जब परि’कल्पना को गई जब एक सर्वे मै पता चला कि स्लम के रहने /वाली 52% महि/लाओं को कई तरह कि खत’र’ना’क बी’मा’री है। सर्वे में 25 साल से 55 साल की महिलाओं की जानकारी पता की गई। जिसमे उनको डाय’बिटी’ज, हिप्र्टें’शन और थाय’रा’यड जैसी बी’मा’री भी शामिल है।

बता दे की इसकी फनडिंग अमेरि’का की एक एनजीओ करती है। हैद’राबाद के एक एनजीओ की मदद से इसको ते’यार किया गया है।मस्जि’द स’मिति ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि जिम खो’लने का मक’सद महि’ला’ओं को जि’म कर’वाना है और उन्हें डाइट प्लान भी बता’या जाता है।

telangana hyderabad mosque open gym

उन्होंने बता’या है कि एक सर्वे मै आया है म’हिला’ओं के स्वा’स्थ्य से जुड़ी जान’कारियां भी साम’ने आई है। जिस”मे पता चला है कि अधिकां’श म’हिला मो’टापे का शि’का’र भी है । उनका बॉडी मास इंडेक्स 25 से उपर आया था, जो द’र्शाता है कि शरीर में फैट को मात्र ज्या’दा ब’ढ़ गई है।

Leave a Comment