ता’लिबा’न के आते ही तुर्की के राष्ट्रपति तैयब एर्दोगन प’लटे, दिया ये बड़ा बयान

तु’र्की अ’फ’गा’नों, अफ’गानि’स्ता’न में तु’र्कि’श नाग’रि’को की भलाई और अफगा’निस्ता’न में अपने हितों की सु’र’क्षा के लिए किसी भी तरह के स’हयोग के लिए भी तै’या’र है। तु’र्क के रा’ष्ट्रप’ति तै’यब ए’र्दो’गान ‘ता’लि’बा’न की म’दद के लिए अफगा’नि’स्ता’न में से’नि’को’ को ब’नाए भी रखना चाहते है।

उन्होंने ली’बि’या की तर्ज पर सै’न्य स’म’झौते की पेश’कश भी की ह। इसके साथ ही वह अंत’रा’स्ट्रीय राज’नीति में ता’लिबा’न की मदद भी करना चाहते है। एर्दो’गा’न ने का’बुल एयर’पोर्ट।पर तु’र्की के सै’नि’कों की मौ’जूदगी को बनाए रखने पर जोर देते हुए कहा है कि इससे नए अफ’गा’नि’स्तान प्रश’सन को मदद भी मिलेगी।

turkish president erdogan

ए’र्दोगा’न का ता’लि’बा’न पर यह रुख है’रान करने वाला है।तु’र्की के राष्ट्रप’ति एर्दो’गान ने कहा है कि ता’लि’बान के रवै’या सही नही है। एर्दो’गान ने कहा था कि हमारी नजर में ता’लि’बा’न के रवैया वैसा ही है जैसा एक मु’लस’मान का दूस’रे मुस’लमा’न के साथ भी हो’ना चाहिए।उन्होंने कहा था कि ता’लि’बान को अपने ही भा’इयो की

ज’मीन से क’ब्जा भी छो’ड़ देना भी चाहिए। बता दे ‘कि टे’लीविज’न इंटर’व्यू में एर्दो’गान ने कहा था कि ता’लि’बान ने देश पर नि’यंत्र’ण करने के साथ हमारे साम’ने एक नई तस्वीर भी सामने आई है। हम क्षे’त्र में ‘उभर बन रही इन नई वा’स्त’विकता के मुता’बिक अपनी यो’जना’ओं भी बना रहे है और

उसी के मु’ताबि’क अपनी बात’चीत भी कर रहे है। ए’र्दोगान ने कहा है कि तु’र्क8 और अफ’गा’निस्ता’न के एक अद्विती’य ऐतिहा’सिक और सा’स्कृ’तिक स’म्ब’द्ध है। यह दोनों देश अच्छे और बु’रे वक्त में साथ भी खड़े रहते है।

Leave a Comment