कोरोना: अपने नागरिकों को वापस नहीं बुलाने पर इस मुस्लिम देश ने दे डाली प्र’तिबन्ध की चे’तावनी,जानिए

दुनिया भर में क्रो’ना के कारण अर्थव्य’वस्था पर सीधा असर पड़ने की सं’भावना जताई जा रही है । को’रो’ना वाइ’रस के चलते देश विदेश में भार’तीय लोग फं’से हुए है। कोरोना के कहर के वजह से सभी अंत’राष्ट्रीय और घरेलू’ फ्ला’इट भी ब’न्द की गई है।लोक डाउ’न की व’जह से कई प्रवासी एक दूसरे शहरों, में फंसे हुए है। इन प्रवा’सी को लेकर यू’एई ने क’ड़ी चेता’वनी दी है।

यूए’ई ने कहा है कि उन देशों पर कड़े प्र’तिबं;ध लगाए जा सकते है जो को;रो;ना संक्र;म’ण के तहत यूएई में ‘फं’से अपने नागरिकों को वापस नही बुला रहे है। यूएई मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यूएई में करीब 33 लाख भारतीय प्रवासी है जो कि देश की आबादी का 30 फीसद है।भारत में नियुक्त यू’एई के राज’दूत रह’मान अल ने गल्फ’ न्यू’ज़ से बातचीत की ।

dubai

उन्होंने कहा है कि यूएई के विदेश ओर अंतराष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय ने देश मे मौजूद सभी दूतावासों को इस सिलसिले में पिछले एक दो हफ़्तों से पत्र भेजा है जिसमे भा’रतीय दूता’वास भी शामिल है।राजदूत ने कहा है कि हमने ये पत्र भेजा है भा’रत मे विदेश मं’त्रालय तक सूचित किया गया है। उन्होंने कहा है कि यूए’ई ने स्वदेश लौटना चाह रहे लोगो को जां’च क’राने का प्रस्ताव दिया है। उन्हीने कहा है कि हम हर किसी को विश्वा’स दिला रहे है कि हमारे पास सर्व’श्रेष्ठ सुविधाएं है , जांच है।

अब तक हमने 5,00,000 से अधिक लोगो की जां’च कर दी है। कुछ लोग लोक डाउन के चलते ओर भारत मे हवाई अड्डो के बन्द होने के चलते फस गए।कुछ लोग यूए’ई की यात्रा पर गए हुए थे उन्होंने कहा है कि जिन लो’गो को जांच में कोविड 19 के लक्षण होंगे उनको यूएई में रहना होगा। उनका हमा’रे यहां पर इ’लाज कराया जाएगा।

बता दे कि केरल उच्च न्याया’लय ने म’हामा’री के चलते खड़ी देशो में फं’से भा’रतीय को वापस लाने के लिए निर्देश जारी करने की मांग करने वाली एक याचिका पर केंद्र सरकार से जवाब मांगा है। बता दे, क्रो’ना के कारण दु’निया के कुछ देशों को छोड़’कर लगभग सभी देशों पर सी’धा असर पड़ा है । बता दे. दुनिया में सबसे अधिक म’र’ने वालों की संख्या अमेरिका में बताई जा रही है।

Leave a Comment