इस मुस्लिम देश ने कोरोना से लड़ने के लिए भारत भेजी मेडिकल रिलीफ, भारत ने कहा शुक्रिया

पूरी दुनिया में को’रो’ना म’हा’मा’री के बाद आर्थिक स्थति सही होने के संके’त नही दिख रहे है । दुनिया के कई देश दूसरे देशों की मदद का इंतज़ार कर रहे है तो इनके से कई देश उन देशों की जरूरत के हिसाब का राशन पहुँचा रहे है। भारत मे बड़ी आबादी रहती है और अब तक यहां करोना के आंकड़े 1 लाख के पार कर चुके है । आजतक की एक न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार भारत में प्रति 10 लाख व्यक्तियों पर क’रो’ना मामले की जाँच 1777 लोगों की हो रही है।

यानी आने वाले हफ़्तों में भारत के करो’ना मरीजों की संख्या में तेजी आ सकती है ।सयुक्त अरब अमीरात ने को;रो’ना म’हामा’री से मुकाबला कर रहे भारत को सात मिट्रिक टन चिकित्सा सामग्री भेजकर मदद की है । नई दिल्ली मे स्थित युएई के दुतावास ने बयान जलाई कर कहा है किये चिकित्सा सामग्री करीब 7000 डाक्टरों के लिए सहायक होगी ।

युएई के भारतीय राजदूत अहमद अब्दुल रहमाश ने बयान मे कहा की,को’विड 19 महा’मा’री से मुकाबला कर रहे देशो की मदद के लिए युएई कार्यरत है । ओर इस बात मिट्रिक टन चिकित्सा सामग्री की भारत को मदद भारत-युएई के बीच कई वर्षो के गहरे सम्बन्ध ओर दोस्ताना का सबुत है । उन्होने बताया,कि को’रो’ना का फै’ल’ना वै’श्विक चिं’ता बन गई है ओर हमारा मानना है कि वा’य’र’स को रोकने के लिए बाकी मुल्कों की भी मदद करने की जरूरत है ।

आज तक युएई ने 34 देशो मे करीब 348 से अधिक मैट्रिक टन की सहायता कर बेहतरीन मिसाल पेश की है इस मदद से करीब 3,48,000 डाँक्टरो की मदद होने का अंदाजा है ।वही दुसरी ओर भारत ने भी को’रो’ना सा झुझ रहे 55 से अधिक देशो को मले’रिया की दवा हा’इड्रोक्सी’क्लोरोक्वा’निन भेजी है ।

अधिकारोंयो ना बताया की इस दवाई को काफी ‘मु’ल्कों मे बेचा जा रहे है हालंकि हमने मदद के तौर पर ये दवा भेजी है अमेरिका, हैशैल्स ओर मॉरिशस को ये पहले दवाई भेजी जा चुकी है ।भारत ने मलेरिया की इस दवाई को पडौसी देश अफगानिस्तान, भूटान, बांग्लादेश, नेपाल वगैरह को भेजकर मदद की है ।

Leave a Comment