UAE : इ’स्लाम पर आप’त्तिज’नक टिप्पणी करना पड़ा भारी, प्रवासी को छोड़ना पड़ेगा देश और इतने करोड़ का लगा जु’र्माना

संयुक्त अरब अमीरात एक मु’स्लिम देश है और काफ़ी सम्पन्न देश भी कहा जाता है , इसकी कई वजह भी है । यहा पर हर देश के प्रवासी रहते है, क्योंकि यह देश बड़ी तादाद में लोगों को जॉब मुहैय्या कराता है । बता दे, इस देश का कानून इस्लामिक कानून नही है जैसा कि सऊदी अरब में है। लेकिन इस्लाम के लिए कही बात के नियम स’ऊदी अरब जैसे ही लगते है।

यह का’नून की शक्ल में तो नहीं लेकिन वहां की सरकार मुस्लि’म होने के साथ इसका खास ख्याल रखा जाता है । आपको बता दे, यूई’ए में आज भी इ’स्लाम की निं’दा और तौहीन करना, इस्ला’म के ख़ि’लाफ़ कुछ भी बोलना या लिखना पूरी तरह से अवैध है। अगर कोई गल’ती करटीए है तो उसे स’ऊदी अरब की तरह स’ज़ा और जुर्मा’ना लगाया जाता है।

खबर यूईए से आ रही है। वहा पर इस्ला’म ध’र्म की निं’दा करने वाले 3 प्रवा’सियों को पकड़ा है। यह तीनों प्रवा’सियों पर कड़ी सजा का ऐ’लान किया गया है, जिससे हर कोई सकते में है । मुस्लि’म देश में जो भी इस्ला’म के खि’लाफ निं’दा करता है तो उसके साथ बहुत बु’रा व्य’वहार किया जाता है और जुर्मा’ना लगाया जाता है।]

इसी बीच यूईए से खबर आ रही है। उन्होंने इस्ला’म ध’र्म’ की तोहिन की है। और इ’स्लाम ध’र्म केख़ि’लाफ़ कुछ आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया है । खलिज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, दु’बई में स्थानीय रि’सोर्ट में सुरक्षा गार्ड के रूप में काम करने वाले तीन प्रवा’सी है।यह तीन प्वासि’यों को बड़ी सज़ा का ऐलान कियाहै ।

इस खबर के बाद जहाँ एक ओर लोगों के लिए नसी’हत है तो दूसरी और प्रवासी सावधानी बरत रहे है । बता दे, अभि’योजन पक्ष ने बचाव पक्ष पर ध’र्म की अव’मानना का आरो’प लगाया है। यूईए सरकार ने हर एक प्रवासियों पर 136 डॉलर (500,000 दिरहम) का जुर्मा’ना लगाया है।

Leave a Comment