अल्लाह का करिश्मा, वो पहाड़ी जो सुबह से शाम तक रंग बदलती है, हर रोज हर मौसम में बदलती है

गिर”गिट के रंग बदलने की बात तो आप लोगो ने सुनी भी होगी इसके अलावा ऑस्ट्रे’लिया में एक ऐसी ही प’हाड़ी है जो अलगअलग दिन और मौसम के अनुसार अपने पहाड़ी का रंग भी बदलता है। ये ऑस्ट्रे’लिया के उत्तरी इ’लाके में स्थित है। यूनिसे’फ को हेरि’टेज साइट भी है।

ऑस्ट्रे’लिया के इस इला’के में आमतौर पर देश के जनजातीय लोग रहते है। इस पहा’ड़ी को उ’लरू पहा’ड़ी या आ’र्यस भी कहा जाता है। इस पहाड़ी केबारे में कोई 150 साल पहले पता लगा था। 1873 में इसका पता एक अंग्रेज ड’ब्लूजी गोसे ने लगाया था।

uluru ayers rocks australia

उन दिनों हेनरी आर्यस प्रधानमंत्री थे।इसका नाम आ’र्यस रॉक रख दिया था। लकिन स्थानीय लोग इसे उलरू पहाड़ी के तोर परही जानते है।बता दे कि यह अंडाकार पहाड़ी 335 मीटर उची है। इसकी गोलाई 7 किलोमीटर है जबकि चौड़ाई 2.4 किलोमीटर है। इसका रंग ऐसे तो लाल रहता है।

इसके रंगों में चम’त्कारी बद’लाव सुब’ह सूर’ज के निकलने के वक्त और शा’म को सूर्या’स्त के समय होता है। जब सुब’ह की सू’रज की किर’णें इस पर पड़ती है तो ऐसा लगता है जैसे प’हाड़ी पर आ’गलगी हुई है। इसमे से बैंगनी और गहरे ला’ल रंग की ल’पटें लगी हुई है।

uluru ayers rocks australia

रंगों में बदलाव के चलते प्राचीन समय मे यहां रहने वाले क’बी’ले इसे भग’वान का घ’र मनाते थे। त’लह’टी में बनी गुफा’ओ में पू’जा किया करते थे। लेकिन अब यह बड़ा टूरि’स्ट के लिए भी बन गया है।

Leave a Comment