विश्व क्रिकेट में युसूफ पठान के नाम है ये 5 क’रि’श्मा’ई रिकॉर्ड , न. 1 रिकार्ड है’रा’न करने वाला

भारतीय टीम के मशहूर क्रिकेटर यूसुफ पठान का नाम तो आप ने सुना ही होगा। जो भारतीय टीम के एक तूफानी ऑल राउंडर खिलाड़ी हैं। युसूफ पठान के छोटे भाई इरफ़ान पठान से भी आप खूब वाकिफ होंगे। जिनको की पूरी दुनिया उनकी स्विंग गेंदबाजी के लिए जानती है। पठान बंधू आजकल समाज सेवा पर ख़ासा धयान भी दे रहे है। पठान बन्धुओं का कुछ दिन पहले एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमे वो बाढ़ पीड़ितों की मदद कर रहे है।

इसके अलावा अभी हाल की में इरफ़ान पठान , उनकी पत्नी और उनके पिता गरीबों को राशन बाटते हुए भी दिखाई दिए थे। ऐसे तो पठान परिवार बेहद ही खुबसूरत है लेकिन हम आपको यूसुफ पठान के बारे में बातएंगे। आईपीएल में सबसे तेज शतक लगाने के मामले में यूसुफ पठान विश्व के दूसरे सबसे तेज और भारत के सबसे तेज खिलाड़ी हैं। उन्होंने 37 गेंदों में अपना शतक पूरा किया था। पहले स्थान पर वेस्टइंडीज के तूफानी बल्लेबाज क्रिस गेल हैं।

जिन्होंने बेंगलुरु की तरफ से खेलते हुए 30 गेंदों में अपना शतक पूरा किया था। युसूफ एक बेहतरीन आल राउंडर खिलाड़ी है। यूसुफ पठान इंडियन प्रीमियम लीग खेलने वाले एकमात्र एक ऐसे खिलाड़ी हैं। जिनके नाम 3000 से ज्यादा रन और 40 से अधिक विकेट दर्ज हैं। यूसुफ पठान ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में अब तक भारतीय टीम की तरफ से खेलते हुए कुल 2 शतक लगाए हैं। दोनो शतक में खास बात रही है, की उन्होंने दोनो शतक छक्के के साथ पूरे किए है।

पहला शतक दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ , जबकि दूसरा शतक न्यूजीलैंड के खिलाफ बनाया है। वनडे क्रिकेट में सबसे तेज शतक लगाने के मामले में यूसुफ पठान 8 वे सबसे तेज शतक लगाने वाले भारतीय खिलाड़ी है। उन्होंने साल 2011 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 68 गेंदों में अपना वनडे शतक पूरा किया था। विश्व क्रिकेट में यूसुफ पठान के इस रिकॉर्ड को देखकर आप जरूर हैरान रह जाएंगे। किसी भी विश्वकप में किसी खिलाड़ी को खिलाने के लिए सबसे पहले अनुभव देखा जाता है।

यूसुफ पठान का डेब्यू टी 20 विश्वकप 2007 के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ हुआ था। विश्वकप फाइनल में डेब्यू करने वाले वह एकमात्र खिलाड़ी हैं। इसके अलावा युसूफ पहले ऐसे खिलाडी है जो फाइनल मैच में डेब्यू किया हो उनकी टीम विश्व चैम्पियन बन गई हो। पठान का फाइनल मैच यानि अपने पहले मैच में जबरदस्त प्रदर्शन किया था। उन्होंने उस मैच में आल राउंडर प्रदर्शन क्र भारतीय टीम को पहला टी 20 विश्व कप दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

Leave a Comment